अंडकोश के रोगों (बीमारियाँ) का घरेलू इलाज Andkosh Ke Rogo Ka Gharelu Upchar

अंडकोश के रोगों (बीमारियाँ) का घरेलू इलाज Andkosh Ke Rogo Ka Gharelu Upchar Hindi Me

अंडकोश के कई प्रकार के रोग हो सकते हैं जैसे अंड बड़े हो जाना, अंडकोश में सूजन आना, पीड़ा होना, जलन होना, अंडकोश में पानी भर जाना आदि। सामान्यतया इस प्रकार की बीमारियां कीटाणुओं के संक्रमण के कारण होती हैं। जननांगों की नियमित व पूर्ण रूप से सफाई न करने के कारण भी अंडकोश में रोग पैदा हो जाते हैं।

अंडकोश के रोगों (बीमारियाँ) का घरेलू इलाज Testicles Problems And Solution In Hindi

आप अपने अन्डकोशों को रोगमुक्त रख सकते हैं बड़े आसाने से और वो भी घर पर ही | पहले तो आपको अपने सभी जननांगों की साफ़ सफाई का पूरा ध्यान रखिये और ऐसा करने से आप ज्यादातर रोगों से मुक्त रहेंगे | लेकिन यदि फिर भी अन्डकोशों से सम्बंधित कोई रोग हो जातें हैं तो उनका इलाज आप अपने घर ही घरेलु दवाओ से कर सकते हैं | तो आइये जानते हैं कि किन अन्डकोश रोगों का इलाज घर पर कैसे करते हैं |

1. अंडवृद्धि में आम से होगा फायदा : यदि आपको अंडवृद्धि की समस्या है तो यह घरेलु औषधि आपके लिए काफी कारगर साबित हो सकती है | आप 25 ग्राम आम के पत्ते लें (ताजे और हरे पत्ते) तथा 10 ग्राम सेंधा नमक लें और दोनों को मिलाकर पीस लें। इस चूर्ण को हल्का सा गर्म करके लेप करने से अंडवृद्धि रुक जाती है।

2. अण्डकोशों में पानी भरने पर किशमिश का प्रयोग : कई बार अण्डकोशों में पानी आ जाता है और यह स्वास्थ्य के लिए एकदम अच्छा नहीं है | इसलिए यदि अंडकोश में पानी भर जाय और वे फूल जाएं तो किशमिश का सेवन विशेष लाभदायक होता है। आप किशमिश को सूखी भी ले सकते हैं या शाम को पानी में भिगोकर सुबह ले सकते हैं लेकिन भिगोकर खाना अधिक लाभप्रद है | इसके लिए आप 25-30 किशमिश रोजाना खाएं इससे आपको फायदा होगा |

3. अंडकोश की सूजन में लीची का प्रयोग : यदि आपके अंडकोश में सूजन और दर्द की शिकायत है तो इसमें लीची काफी फायदेमंद हो सकती है | इसके लिए आप लीची के 10-11 बीजों की गिरी पानी में पीसकर थोड़ी आंच पर सेंक लें तथा शरीर को सुहाने जैसा गर्म करके अंडकोश पर मल दें। ऐसा करने से कुछ दिनों में अंडकोश की सूजन व दर्द समाप्त हो जाएगा।

4. खुजली की शिकायत हो तो क्या करें : किसी कारणवश यदि आपके जननेन्द्रिय में खुजली व्यापक रूप धारण करके रोग में परिवर्तित हो गई हो तो आंवले के रस में चीनी मिलाकर पीने से लाभ होता है।