गुड़हल के फायदे हिंदी में Gudahal Ke Fayde In Hindi

आइये जानते है गुड़हल के फायदे हिंदी में Gudahal Ke Fayde In Hindi

सारे भारत में गुड़हल का पौधा बाग-बगीचों, घर के गमलों, क्यारियों और मंदिर के बगीचे में फूलों की सुंदरता के कारण लगाया जाता है, लेकिन इसके औषधीय गुणों का ज्ञान बहुत कम लोगों को होता है। इसका पौधा आमतौर पर 5 से 9 फुट ऊंचा होता है, जो सदा हरा भरा रहता है। इसके पत्ते 3 सेंटीमीटर लंबे व 2 सेंटीमीटर चौड़े, चिकने, चमकीले, अंडाकार, कगूरेदार होते हैं।

फूल गहरे लाल व केशरिया रंग के 4 से 6 इंच व्यास के घंटाकार होते हैं, जिनमें बीच से पुंकेसर बाहर निकला अलग से दिखता है। अनेक बीजों से युक्त फली गोलाकार होती है। औषधि प्रयोग में इसका फूल ही मुख्य रूप से काम आता है।

इसके बारे में ये जाने –

  1. प्रदर को दूर करे गुड़हल से Pradar Ko Dur Karne Me Gudahal Prayog Kare
  2. सर्दी-जुकाम के लिए गुड़हल Gudahal For Cold And Cough
  3. गंजापन को दूर करे गुड़हल Remove The Baldness From Gudhal
  4. बालों के पोषण के लिए गुड़हल का प्रयोग Use of Gudahal For Nourishment Of Hair
  5. बाल लंबे, घने और स्वस्थ बनाए रखने के लिए गुड़हल To Maintain Hair long, Dense And Healthy, Gudahal
  6. बाल चमकीले, लंबे करने के लिए गुड़हल For Shiny Long Hair Use Gudahal
  7. सूजाक रोग में गुड़हल का सेवन Sujaak Rog Ko Theek Kare Gudahal Se
  8. हृदय दौर्बल्यता में गुड़हल का सेवन Heart Ki Kamjori Ka Upchar Gudahal Se
  9. सूजन व दर्द होने पर गुड़हल से उपचार Swelling And Pain Treatment From Gudahal
  10. यौन शक्ति व स्मरण शक्तिवर्द्धक के लिए गुड़हल Gudahal For Sexual Power And Memory Booster
  11. रक्त की कमी को दूर करे गुड़हल से Removal Of Blood Shortage From Gudahal
  12. मुंह के छाले के लिए गुड़हल Gudahal For Mouth Ulcers

गुड़हल के विभिन्न भाषाओं में नाम Gudahal Ke Vibhinn Bhasao Me Name

  • संस्कृत में (Gudahal In Sanskrit) – जपा।
  • हिंदी में (Gudahal In Hindi) – गुड़हल।
  • मराठी में (Gudahal In Marathi) – जासवन्द।
  • गुजराती में (Gudahal In Gujarati) – जासुद।
  • बंगाली में (Gudahal In Banagali) – जवाफुलेरगाछ।
  • अंग्रेजी  में (Gudahal In English) – शूफ्लावर (Shoe:Flower) ।
  • लैटिन में (Gudahal In Latin) — हिबिस्कस रोजासिनेंसिस।(Hibiscus Rosasinensis) |

गुड़हल के औषधीय गुण Gudahal Ke Aushdhiy Gun

आयुर्वेदिक मतानुसार गुड़हल रस में मधुर, कषाय, गुण में लघु, स्निग्ध, प्रकृति में शीतल, विपाक में कटु, कफ़ और वातशामक होता है। यह केशों के लिए हितकारी, गर्भस्थ शिशु को पुष्ट करने वाला, शरीर व पेशाब की जलन मिटाने वाला, संकोचक, सूजन दूर करने वाला, सूजाक में, हृदय, मस्तिष्क की दुर्बलता हरने वाला, प्रदर रोग में, स्वप्नदोष, सर्दी, रक्त प्रदर में गुणकारी है।

इसे भी पढ़े – मजीठ के फायदे हिंदी में Majeeth Ke Fayde In Hindi

वैज्ञानिक मतानुसार गुड़हल के पुष्प में लौह, फास्फोरस, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, थियामिन, नियासिन व विटामिन सी अल्प मात्रा में होता है। इसके पत्तों में थोड़ी मात्रा में केरोटीन पाया जाता है।

गुड़हल के विभिन्न रोगों में प्रयोग और आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खे Gudahal Ke Vibhinn Rogo Me Prayog Aur Gharelu Nuskhe

1. प्रदर को दूर करे गुड़हल से Pradar Ko Dur Karne Me Gudahal Prayog Kare

महिलाओं के रोगों में भी गुडहल लाभकारी होता है | प्रदर रोग में यह लाभकारी होता है | इसको ठीक करने के लिए 8-10 फूलों की कलियों को घी में सेंक कर एक चम्मच मिसरी और एक कप दूध के साथ रोजाना सेवन करने से रोग कुछ हफ्ते में दूर हो जाता है।

2. सर्दी-जुकाम के लिए गुड़हल Gudahal Se Cold And Cough ka Upchar

सर्दी और जुकाम में गुडहल विशेष रूप से लाभकारी होता है | इसलिए सर्दियों के मौसम में इसे इस्तेमाल कर सकते हैं | सर्दी और जुकाम होने पार 4-5 गुड़हल के फूल इतनी ही काली मिर्च के साथ चबाकर सेवन करने से कुछ ही दिनों में पूरा आराम मिलता है।

3. गंजापन को दूर करे गुड़हल Remove The Baldness From Gudhal

गंजापन कप दूर करने और फिर से नए बाल उगाने में गुड़हल विशेषरूप से उपयोगी है | इसका पहला प्रयोग यह है कि गुड़हल के फूलों को गाय के मूत्र में पीसकर लेप बनाएं। इससे रोजाना सोते समय गंजे सिर पर मलें। कुछ हफ्तों के नियमित प्रयोग से सिर का गंजापन दूर होगा और बाल उग आते हैं।

इसका दूसरा प्रयोग यह है की आप इसके 10-12 फूलों को नारियल के तेल में डालकर उबाल लें और फिर छान कर रख लें | इस तेल को रोजाना शाम को सोते समय लगाकर सो जाएँ और सुबह बालों को धो लें | धीरे – धीरे नए बाल आना शुरू हो जायेंगे |

इसे भी पढ़ें – दारुहल्दी के फायदे हिंदी में Daruhaldi Ke Fayde

4. बालों के पोषण के लिए गुड़हल का प्रयोग Use of Gudhal For Nourishment Of Hair :

गुड़हल के पतों को पीसकर बनी लुगदी को बालों की जड़ों में नहाने से 2 घंटे पूर्व मालिश कर के लगाएं। फिर नहाकर साफ कर लें। इस प्रयोग को नियमित रूप से करते रहने से न केवल बालों को पोषण मिलेगा, बल्कि सिर में शीतलता का भी अनुभव होगा।

5. बाल लंबे, घने और स्वस्थ बनाए रखने के लिएगुड़हल Lambe Ghane And Healthy Balo Ke Liye Gudhal

गुड़हल के पते और फूलों को बराबर की मात्रा में लेकर पीसें और बने लेप को सोते समय बालों में मलकर लगाएं और सुबह धो लें। नियमित रूप से किए गए इस उपाय से बाल स्वस्थ बने रहेंगे।

6. बाल चमकीले, लंबे करने के लिए गुड़हल For Shiny Long Hair Use Gudhal :

ताजे फूलों के रस में जैतून का तेल बराबर की मात्रा में मिलाकर आग पर पका लें। जल का अंश उड़ जाने पर शीशी में भर लें। रोजाना नहाने के बाद बालों में मल-मलकर जड़ों तक लगाएं। इससे वे चमकीले होकर लंबे हो जाएंगे।

7. सूजाक रोग में गुड़हल का सेवन Sujaak Rog Ke Upchar Me Gudhal Prayog Kare

2 फूल और एक बताशा दिन में 2 बार एक हफ्ते तक नियमित रूप से खाने पर सूजाक में बहुत लाभ मिलेगा।

8. हृदय दौर्बल्यता में गुड़हल का सेवन Heart Ki Kamjori Ka Upchar Guhal Se

8-10 फूलों का रस एक चम्मच मिसरी के साथ नियमित रूप से एक बार सेवन करते रहने से हृदय की दुर्बलता दूर होती है।

9. सूजन व दर्द होने पर गुड़हल से उपचार Swelling And Pain Treatment From Gudhal

गुड़हल के पत्तों को पानी के साथ पीसकर लेप तैयार करें। इसे सूजन पर गाढ़ा लगाएं। सूजन और दर्द में आराम मिलेगा।

10. यौन शक्ति व स्मरण शक्तिवर्द्धक के लिए गुड़हल Gudhal For Sexual Power And Memory Booster :

गुड़हल के पत्तों और फूलों को सुखाकर बराबर की मात्रा में मिलाएं। फिर पीसकर एक शीशी में भर लें। एक चम्मच की मात्रा में सुबह-शाम एक कप मीठे दूध के साथ नियमित रूप से पीते रहने से यौन शक्ति और स्मरण शक्ति बढ़ेगी।

इसे भी पढ़ें – बबूल के फायदे हिंदी में Babool Ke Fayde

11. रक्त की कमी को दूर करे गुड़हल से Removal Of Blood Shortage From Gudahal :

गुड़हल के सूखे फूलों का चूर्ण एक-एक चम्मच की मात्रा में एक कप दूध के साथ सुबह-शाम नियमित रूप से सेवन करते रहने से कुछ माह में रक्त की कमी दूर होकर शारीरिक स्फूर्ति, बल वृद्धि होती है।

12. मुंह के छाले के लिए गुड़हलGudahal For Mouth Ulcers :

गुड़हल की जड़ को साफ कर पानी से अच्छी तरह धो लें। फिर इसे एक इंच टुकड़ों में काटकर रख लें। दिन में 3-4 बार एक-एक टुकड़ा चबाकर राल थूकते जाएं। एक दो दिन में ही छालों में आराम मिलेगा।

Searches related to गुडहल के फायदे हिंदी में

  • गुड़हल के पत्ते के फायदे Benefits of Gudhal Leaf
  • गुड़हल के फूल खाने के फायदे Benefits of eating Gudhal flowers
  • गुड़हल के फूल का पाउडर Gudhal Flowers Powder
  • गुड़हल की पत्तियां Gudhal leaves
  • गुड़हल के फूल का पाउडर के फायदे Benefits of Gudhal Flower Powder
  • गुडहल का पौधा Gudhal Plant’s