हाइट बढ़ाने के लिए क्या करें How Can I Increase My Height After 18 In Hindi

मेरा प्रश्न –

मैं 18 वर्षीय लडकी हूं और मेरा कद 5 फुट और वजन 53 किलोग्राम है | मेरे मातापिता, भाई और बहन सभी लंबे और छरहरे बदन के हैं | सभी मुझे चिढ़ाते हैं | मैं बहुत परेशान हूं क्या मेरी लंबाई अभी और बढ़ेगी? कोई ऐसा उपाय बताएं कि मैं लंबी हो सकूं? बाजार में कई तरह कैपसूल बिकते हैं, क्या उनसे मुझे लाभ मिल सकता है? How Can I Increase My Height After 18 Years?

एक्सपर्ट के जवाब 

भारत में बड़े पैमाने पर किए गए अध्ययनों से यह निष्कर्ष निकला है कि देश में युवतियों की लंबाई 16-17 साल की उम्र तक ही बढ़ती है | चूंकि आप यह उम्र पार कर चुकी हैं, इसलिए अब आपके और लंबे होने की संभावना बहुत थोड़ी है |

यह सच है हम सभी की लंबाई अपने-अपने माता – पिटा के जींस पर निर्भर करती है | आपके परिवार में अन्य सभी लंबे हैं, लेकिन आप छोटी रह गईं | यह मात्र संयोग है | इसका संबंध भी आपके जींस के साथ ही जुड़ा है | किसी पूर्वज के ऐसे जींस आपके हिस्से आ गए हैं जिनमें अधिक लंबे होने के गुण नहीं है | इस पर आपका वश नहीं | अत: आप इसे हंसी – खुशी स्वीकार कर लें, इसी में अच्छाई है |

कभी – कभी खानपान सही नहीं होने से भी Height कम रह जाती है | घर के वे सदस्य जो अच्छा खाते है वे लम्बे होते है जबकि जो अधिक नखरे करते है वे छोटे रह जाते हैं | इसलिए खान – पान हमेशा ठीक रखना चाहिए | कभी किसी को लम्बे समय तक बीमारी रहती है तो भी उसका असर लम्बाई पर पड़ता है |

सच कहूं तो शारीरिक कदकाठी से अधिक हम कैसे दिखते हैं, इसका हमारी भाव-भंगिमा से सीधा और गहरा संबंध है | हम कैसे उठते-बैठते हैं, चलते-फिरते हैं और कैसे अपने को संभालते हैं | हमारे शारीरिक सौंदर्य का गणित बहुत कुछ इसी से तय होता है | हमारी चाल में उत्साह हो, बदन चुस्त-दुरुस्त हो, शरीर खिला हुआ हो तो कम लंबाई होने पर भी हम आकर्षक दिख सकते हैं |

अच्छा और आकर्षक शरीर पाने के लिए नित्य व्यायाम करें | इससे आप अपने भीतर एक बड़ा परिवर्तन देखेंगी | अपने भीतर आत्मविश्वास हो, यह संकल्प हो कि जीवन में कुछ कर दिखाना है तो कुछ भी हासिल करना मुश्किल नहीं |

लंबे दिखने के लिए अपनी वेशभूषा पर भी ध्यान दें | ऊंची एड़ी के जूते-चप्पल और नए फैशन के छोटे कुरते पहनने से भी लंबाई अधिक दिखेगी |

किसी भी तरह की गोलियां, कैपसूल लंबाई बढ़ाने में कोई लाभ नहीं पहुंचा, उन से सिर्फ जेब ढीली होती है | इसलिए ऐसी चीजों पार विशवास ना करें |

लेकिन कुछ आसन हैं जिससे आपको लाभ मिल सकता हैं जैसे ताड़ासन करना | इसका साथ पौष्टिक चीजें खाएं, दूध को अवश्य अपनी डाईट में शामिल करे | बच्चो को कम से कम 500 मल दूध रोजाना पीना चाहिए |