काली मिर्च खाने के फायदे Kali Mirch Khane Ke Fayde In Hindi

काली मिर्च खाने के फायदे Kali Mirch Khane Ke Fayde In Hindi. Black Pepper Benefits.

काली मिर्च को मसालों का राजा भी कहा जाता है इसे भोजन में इस्तेमाल किया जाता है और यह गर्म मसाले का अहम् हिस्सा है। काली मिर्च हमारे भोजन का स्वाद ही नहीं बढ़ाती, कई बीमारियों के इलाज में सहायक साबित होती है।

काली मिर्च, काला  नमक, भुना हुआ जीरा और अजवाइन को पीस कर लस्सी या नीबू पानी में डाल कर पीने से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है | इस में कैल्शियम, आइरन, फास्फोरस, कैरोटिन, थाईमन और रिथोफ्लेब्न जैसे पौष्टिक तत्व होते है | एक स्टडी के अनुसार काली मिर्च में बायो-एन्हंस्र नाम का रसाइन होता है, जिसकी मौजूदगी में किसी भी दवाई का असर बढ़ जाता है तथा दवाई कम मात्रा में भी तेज असर करती है |

काली मिर्च की अधिक पैदावार, मालावर प्रान्त और कोंकण में होती है | नागरबेल की तरह ही इसकी बेल होती हैं | इसके पत्ते पान के सामान 3 से 7 इंच लम्बे और फूल सफेद रंग के होते हैं | गर्मी में फूल लगते है और बर्षा ऋतू में फल बनने शुरु होते हैं | फल गुच्छों में लगते हैं | कच्ची अवस्था में फलो का रंग हरा और पकने पर लाल होकर सुखते-सूखते काला हो जाता है | औषधीय गुणों की क्षमता से युक्त होने के कारण यह अनेक रोगों को दूर करने में समर्थ होती है |

यहाँ पर हम इनके बारे में जानकारी देंगे –

  1. काली मिर्च के विभिन्न भाषाओ में नाम
  2. काली मिर्च से बीमारियों का इलाज
  3. काली मिर्च के गुण
  4. Kali Mirch Khane Ke Fayde – Gharelu Nuskhen

काली मिर्च के विभिन्न भाषाओँ में नाम

  1. संस्कृत Kali Mirch in sanskrit – मरिच
  2.  हिंदी Kali Mirch In Hindi – काली मिर्च
  3.  मराठी Kali Mirch In Mrathi- मिरें
  4.  गुजराती kali Mirch In Gujrati – काली मिरी
  5. अंग्रेजी Kali Mirch In English –  ब्लैक पेपर (black pepar )
  6. लैटिन Kali Mirch in Latin  – पाइपर नाइग्रम  (piper nigrum )|

अनेक बीमारियों की एक दवा काली मिर्च (Black Pepper) Kali Mirch – Benefits of Black Pepper

1. मुँह के छाले – Kali Mirch Se Muh Ke Chhalon Ka Ilaj10 किशमिश और इसकी आधी काली मिर्च मिलाकर 15 दिन तक रोज सुबह खाली पेट खाएं | इससे मुँह के छालों में काफी आराम मिलता है |

2. घाव या कटने में राहत – Kali Mirch Se Chot Ka Ilaj

यदि किसी तरह का घाव हो गया हो, कट गया हो और खून ना रूक रहा हो तो काली मिर्ची पीस कर लगा लें खून तुरंत रुक जाता है | मिर्ची है तो आप सोच रहे होंगे कि घाव पर जलन होगी पर ऐसा नहीं है काली मिर्ची एंटीबेक्टीरियल, एंटीसेप्टिक और दर्द निवारक होती है | यह घाव को जल्दी भर देती है |

4. अनियमित मासिक धर्म – Kali Mirch Aur Shahad Se Aniyamit Masik Dharm Ka Ilaj

एक चम्मच शहद व काली मिर्च मिलाकर 2 महीने तक लगातार खाएं इससे अनियमित मासिक धर्म व इससे जुड़ी समस्याओं से छुटकारा मिलता है | kali mirch aur shahad का ये नुस्खा aniyamit masik dharm का काफी कारगार इलाज़ है |

5. गले की समस्याओं के लिए शहद व काली मिर्च – Kali Mirch Aur Shahad, Kali Mirch Aur Adarak

थोड़ी सी काली मिर्च, तुलसी के पत्तों का रस, शहद, काला नमक और अदरक का रस अनुमान से मिलाकर रख लीजिये | यह किसी भी तरह की खांसी, कफ, बलगम, गले की जकड़न आदि को तुरंत ठीक कर देता है |

काली मिर्च के औषधीय गुण, लाभ

काली मिर्च कम दाहक और अधिक गुणकारी होने के कारण लाल मिर्च की अपेक्षा श्रेष्ठ मानी जाती है | उचित तरीका से इसका इस्तमाल किया जाए, तो यह रसायन का काम करती है |

आयुर्वैदिक मतानुसार काली मिर्च अग्निदीपक, तिक्त, रस में कटु, चरपरी, पित्त कारक, कफ और वायु नाशक, नेत्र ज्योति, स्मरणशक्ति और पाचन क्रिया बढ़ाने वाली, पेचिस, मलेरिया, बुखार, त्वचा रोग, सर्दी-जुकाम, सिर दर्द, स्वर भंग अंजनहारी आदि कष्टों में लाभप्रद होती है |

यूनानी मतानुसार काली मिर्च दांत दर्द, उदर पीड़ा, कमर दर्द, अरुचि, डकारे और गैस की तकलीफे दूर कर कामोत्तेजना व विरेचन करती है | इसके अलावा कंठ माला, मसूड़ों की सुजन, जीर्ण ज्वर, पक्षघात, नेत्ररोग, मासिक धर्म का कम आना जैसी बीमारियों में भी हितकारी है |

वैज्ञानिक मतानुसार काली मिर्च के छिलके में राल जैसा पदार्थ होता है, जो पानी में ऊपर तैरता है, जबकि दूसरा उड़नशील तेल होता है | सभी प्रकार के बैक्टेरिया, वायरस पर यह प्रभावी है और उन्हें नष्ट करने मे बहुत कुछ सक्षम होती है | इसके सेवन से गर्भाशय, जननेन्द्रियों, मुत्रासय, मलव्दार पर उत्तेजक प्रभाव पड़ता हैं, त्वचा मे निखार आता है, धमनी की गतिविधियों में तेजी आती हैं |

काली मिर्च के विभिन्न रोगों में प्रयोग Kali Mirch (Black Pepper) Khane Ke Fayde – Gharelu Nuskhe

1. गैस की शिकायत Gas Ki Samasya Ka Upchar

काली मिर्च और लहसुन की कली बराबर की मात्रा में पीसकर भोजन से पहले ग्रास में सुबह-शाम एक चम्मच की मात्रा में कुछ दिन तक सेवन करें | एक कप पानी में आधा नींबू निचोकर, पीसी हुई 5-6 काली मिर्चों का चूर्ण मिलाकर भोजन के बाद सुबह-शाम पिने से भी गैस की शिकायत दूर हो जाती है |

2. स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए Yaaddast Badhane Ke Liye Kali Mirch

काली मिर्च और मिसरी बराबर की मात्रा मे मिलाकर पिस लें | एक चम्मच की मात्रा में एक कप दूध के साथ दिन में 3 बार नियमित रूप से सेवन करने पर दिमागी कमजोरी दूर होकर स्मरण शक्ति बढेगी |

3. मुंह के छाले :  किशमिश और काली मिर्च चबाकर चुसें | प्रयोग 3-4 बार दोहराएं |

4. सामान्य ज्वर : 8-10 काली मिर्च पीसकर 10-15 तुलसी के पत्तो के साथ एक गिलास पानी में उबालें | जब पानी आधा रह जाए, तब एक चम्मच मिसरी मिलाकर पिलाएं | यह प्रयोग दिन में 3-4 बार करें |

5. मसूढ़ो की सुजन : काली मिर्च के काढ़े से गरारे करें |

6. त्वचा रोग : काली मिर्च के महीन चूर्ण को घी में रगड़कर लेप तैयार करें | फिर इसे फोड़े-फुंसी, खाज-खुजली, दाद, एक्जीमा पर नियमित रूप से 2-3 बार लगाएं |

7. खांसी : एक चम्मच शहद में आधा चम्मच काली मिर्चों का चूर्ण मिलाकर चटाएं |

8. कृमि : एक कप मठ्ठे के साथ 4-6 काली मिर्च का चूर्ण सोते समय सेवन करें |

9. पेट दर्द : सोंठ, हिंग और काली मिर्च का चूर्ण बराबर की मात्रा में मिलाएं और इसकी एक चम्मच की मात्रा गर्म पानी से पेट दर्द के समय खिलाएं |

10. नेत्र ज्योति बढ़ाने के लिए : काली मिर्च, घी और मिसरी बराबर की मात्रा में मिलाकर दो चम्मच नियमित रूप से सुबह-शाम कुछ महीनों तक सेवन करें |

11. जुएं नष्ट करने हेतु : 10-12 सीता फल के बिज और 5-6 काली मिर्चो को पीसकर सरसों के तेल में मिलाएं और रात्रि में सोने से पूर्व जड़ों में मलें |

12. सर्दी-जुकाम : आधा चम्मच काली मिर्च का चूर्ण और एक चम्मच मिसरी मिलाकर एक कप गर्म दूध के साथ दिन में तीन बार सेवन करें |

13. अंजनहारी (गुहेरी ) : पानी में काली मिर्च को घिसकर बने लेप को लगाएं | इससे गुहेरी बैठ जाएगी अथवा पककर शीघ्र ही फुट जाएगी |

14. वीर्य पुष्टि हेतु : एक गिलास दूध में 8-10 काली मिर्चो का चूर्ण डालकर अच्छी तरह उबालें | फिर ठंढा करके सुबह-शाम नियमित रूप से सेवन करें |

15. कैंसर से बचाव :- कालीमिर्च में विटामिन सी, विटामिन ए, फ्लैवोनॉयड्स, कारोटेन्स और अन्य एंटी -ऑक्सीडेंट आदि तत्व भी पाए जाते है। कालीमिर्च ब्रेस्ट कैंसर को रोकने मेंमददगार होती है। यह त्वचा के कैंसर से भी शरीर की रक्षा करती है।

हमने यहाँ पर जाना कि –

  • kali mirch ke fayde aur nuksan
  • kali mirch for weight loss in hindi
  • benefits of kali mirch in morning
  • kali mirch in marathi
  • kali mirch ke totke in hindi
  • kali mirch ki taseer kasie hoti hai
  • kali mirch in gujarati

यदि इसके बारे में आपको और भी जानकारी चाहिए तो नीचे comment में लिखें |