स्टेम सेल क्या है और इसका संरक्षण क्यों है जरूरी Stem Cell Preservation Benefits

स्टेम सेल क्या है और इसका संरक्षण क्यों है जरूरी What Is Stem Cell ? Why To Preserve This? भारत में इसकी क्या सुविधाएं है और कहाँ – कहाँ उपलब्ध Stem Cell Preservation Benefits and Cost in India

स्टेम सेल क्या है? What Is Stem Cell

एक विशेष प्रकार का ‘स्रोत’ सेल जिसमें वयस्क Tissue में विकसित होने की क्षमता है । स्टेम सेल मानव शरीर के हर अंग और कोशिका का आधार है । स्टेम सेल क्षतिग्रस्त Tissue को सही करने या उसका स्थान लेने में सक्षम है, इसलिए यह कई बीमारियों और जड़ों को दूर कर सकता है, जैसे –

  • कैंसर
  • डायबीटीज
  • दिल-धमनी की बीमारियां
  • खून संबंधी बीमारियां
  • मानसिक और अन्य बीमारियां

यह अन्य सेल्स से कैसे भिन्न है?

स्टेम सेल की दो प्रमुख विशेषताएं हैं जो अन्य सेल से इन्हें भिन्न करते हैं ।

1. खुद-नवीनीकरण – यह कई कोशिका विभाजन प्रक्रियाओं से गुजर सकता है और फिर भी इसकी मूल अवस्था कायम रख सकता है

2. सक्षमता – यह विभिन्न खास प्रकार की कोशिकाओं में परिवर्तित होने में सक्षम है ।

स्टेम सेल के स्रोत Sources of Stem Cells

स्टेम सेल विभिन्न स्रोतों से प्राप्त किए जा सकते हैं जैसे अम्बलिकल कार्ड ब्लड, बोन मैरो, एडीपोज टिश्यू, पेरिफेरल ब्लड, डेंटल पल्प आदि ।

अम्बलिकल कॉर्ड ब्लड बैंकिंग क्यों चुनें? Why To Choose Umbilical Cord Blood Banking

अम्बलिकल कार्ड गर्भ के अन्दर आपके शिशु का पोषण करता है | यह स्टेम सेल का अच्छा स्रोत हो जो बीमारियों के उपचार में सक्षम है |

  1. नमूना लेने का सबसे सुरक्षित उपाय और इसमें दर्द नहीं होता ।
  2. ट्रांस्फाटेशन के दौरान मिलान की कम आवश्यकता की संभावना
  3. स्टेम सेल लेने के बाद कोई समस्या नहीं और जन्म के बाद भी कोई समस्या नहीं ।
  4. अन्य स्रोतों की तुलना में स्टेम सेल के जीवित और सक्षम रहने की अधिक क्षमता ।

नमूना एकत्र करने की क्या प्रक्रिया है?

स्टेप 1 – नामांकन

अम्बलिकल कोर्ट बैंकिंग के लिए शिशु के जन्म की नियत तिथि से पहले करार करें और एक कलेक्शन किट प्राप्त करें जिसका उपयोग शिशु के जन्म के समय नमूना लेने और उसे सुरक्षित ले जाने के लिए होगा ।

स्टेप 2 – संग्रह

बच्चे के जन्म के बाद 1० मिनट की एक सरल प्रक्रिया के माध्यम से अनुभवी चिकित्सा कर्मचारियों द्वारा अम्बलिकल कई ब्लड और टिश्यू के नमूने एकत्रित किए जाते हैं ।

स्टेप 3 – परिवहन

एकत्रित किया गया नमूना अस्पताल से ले लिया जाता है और 48 घंटों के अंदर अनुभवी लॉजिस्टिक चैनल के द्वारा हमारी स्टोरेज फैसिलिटीज संचय शाला तक सुरक्षित पहुंचाया जाता है ।

स्टेप 4 – परीक्षण एवं प्रसंस्करण (टेस्टिंग एवं प्रोसेसिंग)

नमूने के सुरक्षित स्थान पर पहुंच जाने के बाद विभिन्न परीक्षण किए जाते हैं ताकि उनकी व्यवहार्यता (जीवित रहने की संभावना) के साथ यह सुनिश्चित हो कि उसमें संक्रामक बीमारियाँ नहीं है । इसके बाद हम अपनी अत्याधुनिक तकनीकी के माध्यम से नमूने का प्रसंस्करण प्रोसेसिंग करते हैं ताकि अधिक-से-अधिक स्टेम सेल निकाले जा सके ।

स्टेप 5 – संरक्षण

कई ब्लड और कई टिश्यू स्टेम सेल को वैश्विक मान्यता प्राप्त क्रायोप्रोटेक्टेंट के साथ मिलाया जाता है और तरल नाइट्रोजन के भाप में – 196 डिग्री सेत्निनयरन पर संरक्षित किया जाता है ।