खुशहाल वैवाहिक जीवन के लिए वास्तु और फेंगशुई के उपाय

खुशहाल वैवाहिक जीवन में कई बातें मायने रखती हैं जिसमें आपसी प्यार, सामंजस्य, सामजिक परिदृश्य , परिवार का साथ , माता – पिता का सहयोग और उसके साथ है वास्तु व फेंगशुई | इनके उपाय से न केवल आपकी मैरिड लाइफ खुशनुमा बनी रहेगी, बल्कि रिश्तों में मजबूती भी आएगी |

तो आइये आज जानते है कुछ ऐसे ही महत्वपूर्ण टिप्स के बारे में जिनको अपनाने से आपका वैवाहिक जीवन खुशहाल बना रह सकता है | जो लोग नवविवाहित नहीं हैं बल्कि विवाह हुए कई वर्ष बीत गएँ है तो वे भी इन टिप्स से लाभान्वित हो सकते हैं –
फेंगशुई के अनुसार, घर का दक्षिण-पश्चिम हिस्सा आपसी रिश्तों के लिए एक्टिव होता है. इसलिए इस हिस्से में सकारात्मक ऊर्जा को सक्रिय व नकारात्मक ऊर्जा को निष्किय करने के लिए आप जो भी कोशिश करेंगे, लाभदायक होगा. इसलिए इस हिस्से में पॉजिटिव एनर्जी बढ़ानेवाली चीजें रखें.

✔ दक्षिण-पश्चिम कोने में लाल रंग के गुलाबों का गुलदस्ता (असली या फिर आर्टिफिशियल) रखना चाहिए.

✔ लव बर्ड, मैंडरेन डक जैसे पक्षी प्रेम के प्रतीक हैं. इनकी छोटी मूर्तियों का जोड़ा अपने बेडरूम में रखें. इनसे दांपत्य जीवन खुशहाल रहेगा.

✔ बेडरूम में रोमांटिक कलाकृति, जैसे जोड़े पक्षी की तस्वीर लगाएं.

✔ नवविवाहितों का बेडरूम हमेशा दक्षिण -पश्चिम दिशा यानी नैत्रित्य कोण में होना चाहिए. अगर ऐसा संभव न हो तो दक्षिण या पश्चिम में भी बेडरूम बनाया जा सकता है.

✔ सोते समय नवदंपति का सिरहाना कभी भी उत्तर दिशा की ओर नहीं होना चाहिए, क्योंकि ऐसा होने पर समान चुंबकीय ध्रुव परस्पर विकर्षण करते हैं. इससे नींद में बाधा आ सकती है.

✔ इस बात का ध्यान रखें कि नवविवाहित का बेडरूम कभी भी पूर्वोत्तर दिशा में न हो. इस दिशा में जल तत्व की प्रमुखता रहती है, जो वंशवृद्धि के लिए अनुकूल नहीं है.

✔ बेडरूम के लिए हल्के व ब्राइट यानी आखों को सुकून देने वाले रंगों को चुनाव करें. साथ ही पति-पत्नी दोनों की पसंद का भी ध्यान रखें. हल्का पिंक, येलो, आरेंज, रेड और पर्पल कलर नवदंपति के जीवन में खुशियां लाते हैं, जबकि काला, डार्क ग्रे, या ब्राउन रंग जीवन को उदासी से भर सकते हैं, इसलिए इन रंगों का इस्तेमाल बेडरूम के लिए न करें.

✔ बेडरूम के साथ अगर अटैच्ड बाथरूम है तो उसका दरवाजा हमेशा बंद रखें.

✔ खिड़की के नीचे कभी भी बेड नहीं होना चाहिए. साथ ही इस बात का ध्यान भी रखें कि बेड के दोनों ओर कोई भी सामान न हो.

✔ नवविवाहितों के बेडरूम के पूर्व या उत्तर दिशा में बड़ी खिड़कियां हों तो पूर्वोत्तर दिशाओं से कमरे में प्रवेश करनेवाली सकारात्मक ऊर्जा का लाभ उन्हें मिल सकेगा. इन खिड़कियों पर हल्के रंगों के पर्दे लगाएं.

✔ सीलिंग फैन या सीलिंग बीम के ठीक नीचे न सोएं.

✔ दांपत्य सुख के लिए बेडरूम के दक्षिण-पश्चिम कोने में क्रिस्टल ग्लास के बने झाड़-फानूस का उपयोग करें. इसमें रेड बल्व लगाएं.

✔ बेडरूम के दक्षिण-पश्चिम भाग में हमेशा पृथ्वी या अग्नि से जुड़े रंगों का ही इस्तेमाल करें. पर्दे, कुशन, खिड़कियों आदि में इनका इस्तेमाल करें.

✔ फेंगशुई के अनुसार, पति-पत्नी को एक ही गद्दे पर सोना चाहिए, जैसे – यदि डबल बेड है, तो भी फुल साइज का एक ही गद्दा रखें.

✔ दो गद्दों का इस्तेमाल करना वैवाहिक जीवन के लिए सही नहीं माना जाता है. बेडरूम के पलंग व जमीन के बीच 4-6 इंच का अंतर होना चाहिए, ताकि पलंग के नीचे की अच्छी तरह से सफाई हो सके और एनर्जी को घूमने के लिए जगह मिल सके.

क्या नहीं करना चाहिए

✔ नदी, तालाब, झरने आदि की तस्वीरें अपने बेडरूम में लगाने से बचें.

✔ बेडरूम के अंदर किसी तरह का फव्वारा या फिश एक्वेरियम न रखें.

✔ बेड के सामने या पीछे मिरर यानी आईना न लगाएं. यदि जगह की कमी के कारण मिरर रखना मजबूरी है, तो उसे कपड़े से ढंककर रखें.

✔ बेडरूम में किसी भी प्रकार का पौधा न रखें.

✔ किसी भी देवी-देवता की फोटो न लगाएं. बेडरूम में अपने बुजुर्गों की तस्वीरें भी न लगाए.

✔ बेड के नीचे कोई भी धातु (मेटल) का सामान न रखें, जैसे – सोना, चांदी, बर्तन आदि.

✔ पुराने कागजात, फाइलें, खिलौने, चप्पल- जूते आदि भी पलंग के नीचे न रखें

✔ यदि घर में पालतू कुत्ता है, तो उसे कभी भी बेड पर न लाएं.

इन बातों का रखें ख़ास ख्याल

✔ बेडरूम में टीवी, फ्रिज या कम्प्यूटर न रखें.

✔ यदि टीवी रखना ही चाहें, तो इसे किसी कैबिनेट के अन्दर या ढककर रखें.

✔ जब टीवी बंद हो, तो कैबिनेट का शटर व स्विच बोर्ड बंद कर दें.

✔ कपल्स अपने बेड के नीचे कोई सामान न रखें.

✔ अपने बेड पर किसी और को सोने न दें.

✔ बेडरूम में पानी की तस्वीरवाली पेंटिंग न लगाए.

✔ यदि बेडरूम में एंट्रेंसवाली दीवार के साथ आपका बेड लगा हो, तो इसे बदल दें, क्योंकि इससे रिश्तों में तनाव बढ़ता है.

✔ ऐसी चीजों का इस्तेमाल न करें, जो अलगाव दर्शाती हैं, जैसे- छत पर बीम का होना या एक बेड पर दो अलग-अलग गद्दे का इस्तेमाल.

✔ नवविवाहितों के लिए पलंग पर गद्दे, चादर आदि नए ही हों, इस बात का ख्याल रखें.

✔ ऐसी चद्दर या बिस्तर का इस्तेमाल बिल्कुल न करें, जिसमें छेद हो या कहीं से कटी- फटी हो.

✔ यदि आपको रात में प्यास लगती है, तो रूम में केवल एक पानी की बॉटल रखें.

✔ पानी में नमक मिलाकर बेडरूम में पोंछा लगाएं.

✔ शाम होने पर कमरे की लाइट ऑन करके ही कमरे में जाएं क्योंकि अंधेरे में नकारात्मक ऊर्जा बनती रहती है.

✔ बेडरूम की लाइटिंग अरेंजमेंट सॉफ्ट होनी चाहिए. इससे आप रिलैक्स महसूस करेंगे.

✔ पति-पत्नी की बड़ी-सी हंसती हुई तस्वीर कमरे के दक्षिण-पश्चिम कोने में लगाएं. इससे आपके रिश्तों में हमेशा मिठास बनी रहेगी.

✔ नवदंपति के बेडरूम में हल्के वुडन फर्नीचरों का इस्तेमाल करें.

✔ अपने बेड को कमरे में कुछ इस तरह व्यवस्थित करें जिससे सोते समय आपके पैर के ठीक सामने या सिर के पीछे कोई दरवाजा न हो.

इन बातों मार भी रखें अपना ध्यान

जब लड़की पहली बार ससुराल जाए, तब मुख्यद्वार से जब अपने बेडरूम की ओर बड़े, तो बहुत तेजी से बेडरूम में न जाए. दायां पैर पहले रखे और धीमी गति से बेडरूम में दाखिल हो.

✔ बेडरूम में खूबसूरत व रोमांटिक तस्वीरें लगाएं.

✔ कैंडल्स, गुलाब के फूलों की पेंटिंग आदि लगा सकते हैं.

✔ विवाह के शुरुआती दिनों में अपने बेडरूम को लाल रंग से सजाएं जैसे – लाल रंग की बेडशीट, लाइट आदि. यदि संभव हो, तो रेड कलर के फूट्‌स भी खाएं.

✔ बेडरूम के मुख्यद्वार पर शाम के समय थोड़ा-सा कपूर जलाएं इससे वहां की निगेटिव एनर्जी बाहर निकल जाएगी.

Disclaimer – यह जानकारी वास्तुशास्त्री सुशील फतेहपुरिया के द्वारा दी गयी है |